प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना: उद्देश्य और मुख्य विशेषताएँ

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना

सन् 2023 में, केंद्रीय वित्त मंत्री, निर्मला सीतारमण, ने भारत के लिए बजट प्रस्तुत किया, जिसमें कई महत्वपूर्ण घोषणाएँ शामिल थीं। इन घोषणाओं में विश्वकर्मा समुदाय के लिए एक कल्याणकारी योजना की शुरूआत भी शामिल थी, जिसे प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना कहा गया। इस योजना का उद्देश्य लगभग 140 जातियों को शामिल करना है जो विश्वकर्मा समुदाय में आते हैं। इस लेख में, हम प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के विवरणों पर प्रकाश डालेंगे और आपको इस योजना के लिए आवेदन कैसे करना है, इस पर विस्तृत जानकारी देंगे ।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना का उद्देश्य

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना का प्राथमिक उद्देश्य विश्वकर्मा समुदाय से संबंधित पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों को कौशल विकास और मान्यता प्रदान करना है। सरकार का लक्ष्य इन कुशल व्यक्तियों को वित्तीय सहायता और प्रशिक्षण के अवसर प्रदान करके सशक्त बनाना है। इस योजना के माध्यम से सरकार का इरादा पारंपरिक शिल्प कौशल की समृद्ध विरासत को संरक्षित और बढ़ावा देना है।

परिचयवर्ष 2023 में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारत के बजट प्रस्तुत किया।
इसमें विश्वकर्मा समुदाय के लिए प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना शामिल थी।
उद्देश्यविश्वकर्मा समुदाय के पारंपरिक कलाकारों और शिल्पकारों के लिए कौशल विकास और मान्यता।
वित्तीय सहायता और प्रशिक्षण के अवसरों के माध्यम से सशक्तीकरण।
लाभ और मुख्य विशेषताएँ– ब्याज-मुक्त ऋण: 2 लाख रुपये तक।
– वित्तीय सहायता: स्थानीय कलाकारों और शिल्पकारों के लिए 10,000 से 10 लाख रुपये।
पात्रता मानदंड– आवेदक विश्वकर्मा समुदाय से संबंधित होना चाहिए।
– विश्वकर्मा समुदाय के तहत सभी जातियों के लिए खुला है।

लाभ और मुख्य विशेषताएं

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के तहत, पात्र व्यक्ति विभिन्न लाभों और सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। उनमें से कुछ हैं:

ब्याज मुक्त ऋण:

योजना में लाभार्थियों को 2 लाख रुपये तक का आकर्षक ब्याज-मुक्त कर्ज प्रदान किया जाता है।

कौशल विकास प्रशिक्षण:

योजना प्रोग्रामों के माध्यम से मुफ्त प्रशिक्षण प्रदान करती है जो कलाकारों के कौशल और ज्ञान को बढ़ाने के लिए होते हैं।

वित्तीय सहायता:

सरकार स्थानीय कलाकारों और शिल्पकारों के लिए स्थानीय स्तर के उद्यम स्थापित करने के लिए 10,000 से 10 लाख रुपये तक की वित्तीय सहायता प्रदान करती है।

बाज़ार संपर्क:

इस योजना का उद्देश्य पारंपरिक कारीगरों को उनके उत्पादों की गुणवत्ता और पहुंच में सुधार करके मुख्यधारा के बाजार से जोड़ना है।

पात्रता

  • प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के लिए पात्र होने के लिए व्यक्तियों को कुछ मानदंड पूरे करने होंगे। इस योजना के पात्रता मानदंड निम्नलिखित हैं:
  • आवेदक को विश्वकर्मा समुदाय से संबंधित होना चाहिए।
  • यह योजना विश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत आने वाली सभी जातियों के लिए है।
  • आवेदक के पास किसी भी पारंपरिक शिल्प कौशल में आवश्यक कौशल और विशेषज्ञता होनी चाहिए।
  • व्यक्ति को प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए इच्छुक होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज़

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवेदकों को कुछ दस्तावेज की जरूरत होगी । आवश्यक दस्तावेजों की सूची में शामिल हैं:

  • आधार कार्ड या किसी अन्य पहचान प्रमाण।
  • जाति प्रमाणपत्र या समुदाय प्रमाणपत्र।
  • निवास का प्रमाण।
  • कौशल प्रमाणपत्र या किसी अन्य संबंधित शैक्षिक योग्यता का प्रमाण
  • कर्ज वितरण के लिए बैंक खाता विवरण।

आवेदन प्रक्रिया

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया सरल है और इसे ऑनलाइन पूरा किया जा सकता है। निम्नलिखित कदमों का पालन करके आवेदन करें:

  • प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • व्यक्तिगत और कौशल संबंधित विवरणों के साथ आवेदन पत्र भरें।
  • निर्धारित प्रारूप में आवश्यक दस्तावेज़ अपलोड करें।
  • आवेदन की समीक्षा करें और ऑनलाइन जमा करें।
  • भविष्य के लिए आवेदन संख्या को संभाल कर रखे

नवीनतम अपडेट

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के बारे में नवीनतम समाचार और घोषणाएँ जानने के लिए अपडेटेड रहें। सरकार नियमित रूप से आधिकारिक वेबसाइट और विभिन्न मीडिया चैनलों के माध्यम से अपडेट जारी करती है। किसी भी नई विकास और दिशिकाओं के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर नजर रखें।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की घोषणा किसने की थी

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की घोषणा केंद्रीय वित्त मंत्री, निर्मला सीतारमण, द्वारा की गई थी

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना कब शुरू की गई थी?

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की शुरुआत मार्च 2023 में हुई थी, 2023-24 के वित्तीय वर्ष के दौरान।

मैं प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के लिए कैसे आवेदन कर सकता हूँ?

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के लिए आवेदन करने के लिए, आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं, आवेदन पत्र भरें और दिए गए मार्गदर्शन के अनुसार आवश्यक दस्तावेज़ अपलोड करें।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना का उद्देश्य विश्वकर्मा समुदाय के पारंपरिक कलाकारों और शिल्पकारों को सशक्त और उन्नत करना है। कौशल विकास प्रशिक्षण, वित्तीय सहायता के माध्यम से सरकार का उद्देश्य पारंपरिक कलाकृति की समृद्ध धरोहर को संरक्षित रखना और इन कौशलशील व्यक्तियों के बीच आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करना है। आधिकारिक वेबसाइट से नवीनतम समाचार और दिशिकाओं के लिए अपडेटेड रहें और आवेदन प्रक्रिया या किसी अन्य सहायता के लिए हेल्पलाइन से संपर्क करें।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना: छोटे उद्यमों के लिए एक बढ़ावा

महिला सम्मान सेविंग्स सर्टिफिकेट MSSC की पूर्ण जानकारी

किसान विकास पत्र KVP ब्याज दर जुलाई-सितंबर 2023

अन्य जानकारी के लिए आप हमारे YouTube channel से इससे सम्बंधित पूरी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते है Desi Kisan

Related Posts