प्रधानमंत्री मुद्रा योजना: छोटे उद्यमों के लिए एक बढ़ावा

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

Table of Contents

सूक्ष्म और लघु उद्यमों को किफायती ऋण प्रदान करने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा 2015 में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना PMMY लॉन्च किया गया था। यह प्रमुख योजना उद्यमों को औपचारिक वित्तीय प्रणाली में लाने, या “ऋण से वंचित लोगों को ऋण देने” के लिए डिज़ाइन की गई है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना क्या है?

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना PMMY महिला उद्यमियों सहित युवा, शिक्षित या कुशल श्रमिकों और उद्यमियों को ऋण का अवसर प्रदान करता है। इसे गैर-कॉर्पोरेट लघु व्यवसाय क्षेत्रों (एनसीएसबीएस) के लिए वित्तीय सुविधाओं तक पहुंच को बढ़ावा देने और सुनिश्चित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। जिससे देश की जीडीपी की वृद्धि और रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे।

मुद्रा योजना के तहत तीन प्रमुख श्रेणियाँ हैं: शिशु, किशोर और तरुण। शिशु योजना के तहत छोटे व्यापारों और उद्यमियों को 50,000 रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है। किशोर योजना में यह राशि 50,000 रुपये से 5 लाख रुपये तक होती है। और तरुण योजना में 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है।

प्रकारऋण राशि
शिशु योजना50,000 रुपये तक
किशोर योजना50,000 रुपये से 5 लाख रुपये तक
तरुण योजना5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (पीएमएमवाई) की पात्रता-

  • भारतीय नागरिकता – योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।

  • उम्र सीमा – योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से 65 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

  • व्यापारिक/व्यवसायिक गतिविधि – आपको आवेदन करने के लिए किसी निजी उद्योग की शुरुआत करने की इच्छा या अपने मौजूदा व्यापार को बढ़ाने की आवश्यकता होती है।

  • आय – आपकी वार्षिक आय श्रेणी निम्नलिखित में से होनी चाहिए:

  • शिशु योजना: 1 लाख रुपये से कम
  • किशोर योजना: 1 लाख रुपये से 5 लाख रुपये तक
  • तरुण योजना: 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक
  • कोई आवेदन करने वाले का खाता बैंक में होना चाहिए।

  • आवेदन करने वाले को किसी भी बैंक शाखा में जाकर आवेदन करना होगा।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (पीएमएमवाई) के लाभ

  1. ऋण प्राप्ति की सुविधा – योजना के तहत आप बैंकों से आसानी से वित्तीय सहायता प्राप्त कर सकते हैं। आपको न्यूनतम ब्याज दर पर ऋण प्रदान किया जाएगा, जो आपकी आर्थिक भारी बोझ को कम करने में मदद करेगा।
  2. व्यवसाय में स्वतंत्रता – पीएमएमवाई योजना द्वारा आप अपने स्वयं के व्यवसाय की स्थापना कर सकते हैं या अपने मौजूदा व्यापार को बढ़ा सकते हैं। इससे आपको नौकरी की तलाश नहीं करनी पड़ेगी और आपको आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनने का अवसर मिलेगा।
  3. आर्थिक सहायता – यह योजना आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को मदद प्रदान करती है। व्यापारियों को वित्तीय संकट से बचाने के लिए निर्माण और उद्यम द्वारा ऋण प्रदान किया जाता है, जो उन्हें आर्थिक रूप से सुरक्षित बनाता है।
  4. प्रशिक्षण और सहयोग – योजना के तहत आपको व्यापारिक प्रशिक्षण और मार्गदर्शन की सुविधा मिलती है, जिससे आप अपने व्यवसाय को बेहतर तरीके से प्रबंधित कर सकते हैं। इसके साथ ही, योजना आपको संगठनात्मक सहयोग भी प्रदान करती है जैसे कि आपको व्यवसायी समुदाय और बाजार में जुड़ने का मौका मिलता है।
  5. आर्थिक विकास – पीएमएमवाई योजना छोटे व्यापारों और उद्यमियों को आर्थिक विकास का मार्ग प्रदान करती है। यह योजना छोटे व्यापारों को मजबूत बनाती है, नए रोजगार के अवसर सृजित करती है और देश की आर्थिक प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान देती है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना पीएमएमवाई योजना द्वारा छोटे व्यापारियों और उद्यमियों को वित्तीय सहायता प्रदान करके उनके व्यापार को मजबूत बनाने का उद्देश्य है। यह योजना आर्थिक विकास और स्वावलंबन की प्रोत्साहन करती है, जो देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Screenshot 2023 07 15 003315

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लिए आवेदन कैसे करें

  1. नजदीकी बैंक शाखा चुनें – पीएमएमवाई के लिए आपको अपने नजदीकी बैंक शाखा का चयन करना होगा जहां योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं।
  2. आवेदन पत्र प्राप्त करें – बैंक में जाकर प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के आवेदन पत्र प्राप्त करें। आप इसे बैंक में ही भर सकते हैं या यदि उपलब्ध हो तो बैंक की वेबसाइट से भी डाउनलोड कर सकते हैं।
  3. आवश्यक दस्तावेज़ तैयार करें – आवेदन पत्र भरने के लिए आपको निम्नलिखित आवश्यक दस्तावेज़ों की तैयारी करनी होगी:
    • आवेदन पत्र की संपूर्ण प्रतिलिपि
    • आय प्रमाणपत्र (आयकर रिटर्न, बिजनेस रजिस्टर, आदि)
    • व्यापार संबंधित दस्तावेज़ (व्यापार निगम पंजीकरण)
    • बैंक खाता संबंधी विवरण
    • उद्योग आधार पंजीकरण
    • पहचान प्रमाण पत्र (आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड, आदि)
    • बिजनेस प्लान (अगर आवश्यक हो)
    • प्रोजेक्ट रिपोर्ट
  4. आवेदन पत्र भरें – आवश्यक दस्तावेज़ों के साथ आवेदन पत्र को संपूर्ण रूप में भरें। यह सुनिश्चित करें कि सभी जानकारी सही और सटीक हो।
  5. आवेदन जमा करें – भरे गए आवेदन पत्र और आवश्यक दस्तावेज़ों को अपने चयनित बैंक शाखा में जमा करें।
  6. समीक्षा और अनुमोदन – बैंक कर्मचारियों द्वारा आपके आवेदन की समीक्षा की जाएगी और आपकी पात्रता के आधार पर आपका आवेदन मंजूरी प्राप्त करेगा। ऋण के आवेदन स्वीकार होने के लिए आपका सिबिल (cibil) स्कोर अच्छा होना अत्यन्क आवस्यक है।

आपको अपने नजदीकी बैंक शाखा में संपर्क करके विस्तृत जानकारी प्राप्त करनी चाहिए और योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया की सटीकता और दस्तावेज़ों की सूची की पुष्टि करनी चाहिए।

सिबिल (Cibil) स्कोर क्या है ?

सिबिल स्कोर एक आंकड़ा है जो क्रेडिट इतिहास के आधार पर एक व्यक्ति की वित्तीय प्रतिष्ठा को मापता है। यह भारतीय ऋण और वित्तीय संस्थान विनियामक निगम (सिबिल) द्वारा प्रबंधित किया जाता है।

सिबिल स्कोर की गणना क्रेडिट रिपोर्ट पर आधारित होती है जिसमें ऋण के वित्तीय और क्रेडिट इतिहास का विवरण होता है। यह आंकड़ा 300 से 900 के बीच होता है, जहां 300 सबसे कम होता है और 900 सबसे अधिक होता है। यह स्कोर ऋण के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति की ऋण की मंजूरी को निर्धारित करने में बैंकों और वित्तीय संस्थानों के लिए महत्वपूर्ण होता है।

सिबिल स्कोर

महिला सम्मान सेविंग्स सर्टिफिकेट MSSC की पूर्ण जानकारी

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (पीएमएमवाई) की ब्याज दर क्या है?

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत ऋणों की ब्याज दर बैंकों द्वारा निर्धारित की जाती है। ब्याज दर ऋण के प्रकार, राशि और अवधि पर निर्भर करती है। इसलिए, ब्याज दरों में थोड़ी परिवर्तनशीलता हो सकती है।

निम्नलिखित तालिका में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की वर्तमान ब्याज दरें दी गई हैं:

ऋण राशिब्याज दर
2 लाख तक10.3% (EBLR+1)
2-10 लाख11.05% (EBLR+1.75)
वर्तमान EBLR= 9.3% जुलाई 2023

कृपया ध्यान दें कि यह ब्याज दरें यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की वर्तमान दरें हैं और ये ब्याज दरें बैंक की नीतियों के अनुसार परिवर्तन कर सकती हैं।

FAQs प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना ऋण की अधिकतम सीमा क्या है?

पीएमएमवाई योजना के तहत ऋण की अधिकतम सीमा 10 लाख रुपये है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना को चुकाने की अवधि क्या है?

ऋण की चुक्तान अवधि 84 महीनों तक होती है, जिसमें उपयुक्त मोरेटोरियम शामिल होता है पर अधिकतर यह 60 महीने होती है, आप अपने हिसाब से बैंक अधिकारी से बात करके इसे कम या ज्यादा करवा सकते है।

मार्जिन क्या है और यह कैसे निर्धारित होती है?

मार्जिन मनी किसी प्रोजेक्ट मे आपकी तरफ से किया गया खर्चा होता है, ध्यान दे बैंक कभी भी किसी प्रोजेक्ट का कुल 100% ऋण नहीं देता है, उसमे कुछ धनराशि आपको अपनी तरफ से भी देनी पड़ती है जिसे ही मार्जिन कहा जाता है।

क्या मुद्रा ऋण के लिए कोई सुरक्षा जमानत की आवश्यकता होती है?

नहीं, मुद्रा ऋण के लिए कोई सुरक्षा जमानत की आवश्यकता नहीं होती है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना ऋण के लिए प्रोसेसिंग शुल्क होता है?

नहीं, पीएमएमवाई योजना के तहत प्रोसेसिंग शुल्क नहीं होता है।

क्या प्री-क्लोजर शुल्क लिया जाता है?

नहीं, प्री-क्लोजर शुल्क पीएमएमवाई ऋण के लिए नहीं लिया जाता है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (पीएमएमवाई) भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए एक महत्वपूर्ण सरकारी योजना है। इस योजना का उद्देश्य व्यापार, उद्योग, और व्यवसाय को समर्थन प्रदान करने के लिए छोटे और मध्यम आय वर्ग के लोगों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना है।

Related Posts