लेमनग्रास की खेती कैसे करे

लेमन ग्रास की खेती कैसे

लेमनग्रास क्या है ?

लेमनग्रास एक पौधा है जिसका उपयोग दवाइयां, सुगंधित तेल व साबुन बनाने में किया जाता  है।  लेमनग्रास का पौधा ऊंचाई में तीन से चार फुट का होता है, तथा इसकी खेती  भारत में  धीरे धीरे लोकप्रिय हो रही है । आइए जानते हैं की आप अपने खेत में लेमनग्रास की खेती कैसे कर सकते हैं इस लेख में आपको लेमनग्रास  की खेती से जुड़ी हुई सारी जानकारी दी जाएगी ।

लेमनग्रास की खेती के लिए मिट्टी का चुनाव-

लेमनग्रास की खेती के लिए किसी खास प्रकार की मिट्टी की आवश्यकता नहीं होती है बल्कि आप इसे किसी भी प्रकार की मिट्टी में लगा सकते हैं। ध्यान में रखने वाली बात यह है कि आपका खेत ऐसी अवस्था में होना चाहिए जिससे उस खेत में जलभराव की समस्या ना हो यदि जलभराव होता है तो यह फसल को काफी नुकसान पहुंच सकता है अतः  ऐसे खेत का चुनाव करें जिसमें पानी जमा होने की संभावना कम से कम हो।

लेमनग्रास की खेती का सही समय- 

लेमन ग्रास के पौधों  की शुरुआत मुख्यतया  जुलाई  से सितंबर के मध्य की जाती है ताकि पर्याप्त पानी की उपलब्धता हो।   वैसे तो आप  लेमन ग्रास  के पौधे को ठंड  के मौसम  को छोड़कर किसी भी समय लगा सकते हैं लेकिन अगर आप इसे  मार्च से मई  माह में लगाते हैं तो ध्यान रखें कि आपके पास सिंचाई के लिए  पानी की कमी ना हो  अन्यथा पानी के अभाव में लेमन ग्रास के पौधे सूख जाते हैं।

खाद-

लेमनग्रास की खेती के लिए अपने खेत की तैयारी करते समय ही आप 50  किलोग्राम प्रति एकड़ के हिसाब से डाई ( डी  ए  पी)  को   डाल करके  खेत की जुताई  करें |  इसके बाद आपको लेमन ग्रास की खेती के लिए किसी भी प्रकार की  अन्य खाद की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

लेमनग्रास की खेती का रोपड़-

लेमन ग्रास पौधे  को उगाने के लिए किसी  बीज  की जरूरत नहीं होती है, किंतु  इसके लिए हम लेमनग्रास पौधे के ही कुछ स्लिपस को हम एक निर्धारित दूरी पर बो देते हैं।

एक स्लिप की ऊंचाई लगभग 6 इंच होती है | एक एकड़ की बुवाई में लगभग 15 से 17000 स्लिपस की जरूरत पड़ती है जिसका मूल्य 30 से 40 पैसे प्रति स्लिप पड़ता है । उसको हम एक पैटर्न जहां पर लाइन से लाइन की दूरी 2 फुट तथा पौधे से पौधे की दूरी 1 फुट होंगी  पूरे खेत में इसी पैटर्न पर  लगा देते हैं |  इससे आप का पौधा अच्छी तरह से ग्रो करेगा, बीच में कोई गैप नहीं रहेगा और पौधों के बीच में कोई  घास नहीं रहेगी |

सिंचाई-

लेमन ग्रास की खेती के लिए सिंचाई की खास आवश्यकता नहीं होती है ठंड के दिनों में लगभग 1 महीने में एक बार तथा गर्मियों में 15 दिन पर एक बार सिंचाई की आवश्यकता होती है जबकि बरसात के महीने में सिंचाई की कोई आवश्यकता नहीं होती है।

कटाई-

लेमन ग्रास के पौधे  की पहली कटाई हम इसके रोपण के 6 महीने बाद कर सकते हैं इसके बाद हर 3 से 4 महीने में आपका लेमन ग्रास का पौधा कटाई के लिए तैयार हो जाएगा जिसका तेल आप आराम से निकाल सकते हैं|

लेमनग्रास को कैसे बेचे-

लेमन ग्रास के एक एकड़ के खेत में औसतन लगभग 120 से 130 लीटर तेल का उत्पादन किया जा सकता है जहां पर   मौजूदा समय पर लेमन ग्रास के एक लीटर तेल को  व्यापारी 1200 से 1500 रुपए  प्रति लीटर में  खरीदते है और उसको साबुन या दवा बनाने में उपयोग करते हैं।  यदि आप चाहे  तो खुद भी अपने लेमन ग्रास के तेल को ऑनलाइन   वेब साइट्स  के माध्यम से ग्राहकों को  सीधे तौर पर  बेच सकते हैं|

हमारी यूट्यूब विडिओ

हमें आशा है के लेमनग्रास की खेती से जुड़ा यह लेख आपको पसंद आया होगा| अन्य जानकारी के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल देसी किसान पर इससे जुड़ी सारी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं|

 कुछ अन्य लेख: छिड़काव सिंचाई प्रणाली (Sprinkler Irrigation System) की पूर्ण जानकारी-

अन्य जानकारी के लिए आप हमारे YouTube channel से इससे सम्बंधित पूरी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते है Desi Kisan.

Related Posts

One thought on “लेमनग्रास की खेती कैसे करे

Comments are closed.